निज़ामुद्दीन मरकज़ मामले मे जो कोरोना संदिग्ध है अब इलाज कर रहे डॉक्टर और कर्मचारी पर थूक रहा हैं

नई दिल्‍ली दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज से तबलीगी जमात के कोरोना संक्रमण संदिग्‍धों को ले जाकर तुगलकाबाद में क्‍वारंटीन सेंटर (पृथक केंद्र) में रखा गया है. पहले ये लोग निजामुद्दीन मरकज को छोड़कर जाने को तैयार नहीं थे और अब ये लोग क्‍वारंटीन सेंटर में उनका इलाज कर रहे डॉक्‍टरों और अन्‍य कर्मचारियों को भी परेशान कर रहे हैं. उत्‍तर रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार के मुताबिक ये सभी लोग पृथक केंद्र में जगह-जगह थूक रहे हैं. इसके साथ ही ये डॉक्‍टरों और कर्मचारियों पर भी थूक रहे हैं. बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमित या संदिग्‍ध लोगों के थूकने से इसके संक्रमण के प्रसार का खतरा कई गुना बढ़ जाता है. सीपीआरओ के मुताबिक ये लोग बुधवार सुबह से ही खराब बर्ताव कर रहे हैं. ये सभी खाने-पीने की अनावश्‍यक चीजों की मांग कर रहे हैं.  सीपीआरओ दीपक कुमार के अनुसार ये सभी लोग उनके इलाज में जुटे डॉक्‍टरों और उनकी देखरेख कर रहे कर्मचारियों के साथ बुरा बर्ताव कर रहे हैं. वे सभी क्‍वारंटीन सेंटर में जगह-जगह थूक रहे हैं. वह रोक के बावजूद हॉस्‍टल में घूमने लगते हैं. आपको बता दे कि निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के मुख्यालय में जमात के 2300 से अधिक कार्यकर्ता रूके हुए थे और उन्हें पिछले तीन दिनों में वहां से निकाला गया. इनमें से 617 लोगों में कोविड-19 के लक्षण सामने आने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि शेष को पृथक रखा गया है. गृह मंत्रालय ने मंगलवार को कहा था कि 21 मार्च को देश के विभिन्न स्थानों पर तबलीगी जमात की शाखाओं में करीब 824 विदेशी रुके हुए थे.

Share this post on:

One Reply to “निज़ामुद्दीन मरकज़ मामले मे जो कोरोना संदिग्ध है अब इलाज कर रहे डॉक्टर और कर्मचारी पर थूक रहा हैं”

  1. It’s awesome to pay a visit this web page and reading the
    views of all friends concerning this article, while
    I am also zealous of getting know-how.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *